समर्थक

सोमवार, 19 नवंबर 2018

श्रीराम नाम रामायणम्

समस्त दक्षिण भारत में अति-प्रचलित इस लघु-रामायण रामधुन की सरल संस्कृत में लिखित 108 छोटी-छोटी पंक्तियों में सम्पूर्ण रामकथा कही गई है।

मूल धुन: तिरुवइयारु पण्डित लक्ष्मणाचार्य (1857 -1919)
गायन: श्री बालकृष्ण प्रसाद गरिमेल्ला

पुरातन पोस्ट पत्रावली

ब्लॉग निर्देशिका - Blog Directory

हिन्दी ब्लॉग - Hindi Blog Aggregator

Indian Blogs in English अंग्रेज़ी ब्लॉग्स