समर्थक

बुधवार, 2 नवंबर 2011

पण्डित जी मेरे मरने के बाद - रोटी कपड़ा और मकान (1974)

पी जाना तू आँख के आँसू पर कुछ जाम बहा देना

सफ़र आखिरी लम्बा है कोई साथ में साथी तो चाहिये

लता मंगेशकर का स्वर, अरुणा ईरानी का अभिनय
वर्मा मलिक के शब्द, लक्ष्मीकांत प्यारेलाल का संगीत
एक लोकप्रिय फ़िल्म गीत

1 टिप्पणी:

निर्मला कपिला ने कहा…

खूबसूरत गीत। धन्यवाद।

ब्लॉग निर्देशिका - Blog Directory

हिन्दी ब्लॉग - Hindi Blog Aggregator

Indian Blogs in English अंग्रेज़ी ब्लॉग्स