समर्थक

बुधवार, 30 नवंबर 2011

रंग दे बसंती - निर्भय भारत की एक झलक

200 मुम्बईकरों के साथ - पर ये मत भूलो कि क़साब अभी ज़िन्दा है

जीवन चलता है परंतु वे निर्दोष जीवन भी याद रहें जिनके अपने आज भी उन्हें याद कर रहे हैं। आतंकवाद आज भी एक बड़ा खतरा है।

1 टिप्पणी:

Maheshwari kaneri ने कहा…

ये ज़ज्बा ऐसे ही रहना चाहिए....

ब्लॉग निर्देशिका - Blog Directory

हिन्दी ब्लॉग - Hindi Blog Aggregator

Indian Blogs in English अंग्रेज़ी ब्लॉग्स