समर्थक

रविवार, 22 अप्रैल 2012

ऐसे न थे हम - साजन की सहेली (1981)


ऐसे न थे हम जैसी हमारी की रुसवाई लोगों ने
कुछ तुमने बदनाम किया कुछ आग लगाई लोगों ने
तुम को खबर क्या शहर में उस दिन ईद मनाई लोगों ने

स्वर: मुहम्मद रफ़ी, संगीत: उषा खन्ना; गीत: सावन कुमार टाक (सम्भवतः)


पुरातन पोस्ट पत्रावली

ब्लॉग निर्देशिका - Blog Directory

हिन्दी ब्लॉग - Hindi Blog Aggregator

Indian Blogs in English अंग्रेज़ी ब्लॉग्स