समर्थक

गुरुवार, 24 मई 2012

एक दौर वह भी था - यह नज़दीकियाँ (1982)

शबाना आज़मी, मार्क ज़ुबैर

गीत: गणेश बिहारी श्रीवास्तव
संगीत: रघुनाथ सेठ


पुरातन पोस्ट पत्रावली

9 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत बढ़िया प्रस्तुति!
आपकी प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार के चर्चा मंच पर लगाई गई है!
चर्चा मंच सजा दिया, देख लीजिए आप।
टिप्पणियों से किसी को, देना मत सन्ताप।।
मित्रभाव से सभी को, देना सही सुझाव।
शिष्ट आचरण से सदा, अंकित करना भाव।।

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

यह नज़दीकियाँ एक अच्‍छी फ़ि‍ल्‍म थी. शायद वि‍नोद पांडे नि‍र्देशक थे. मार्क ज़ुबेर में कोई कमी न थी पर बदक़ि‍स्‍मती से वह एक्‍टर चला नहीं.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

आभार!

Rajesh Kumari ने कहा…

achhi picture thi ,laajabaab abhinay aur sundar ghazal

Maheshwari kaneri ने कहा…

bahut sundar..

ana ने कहा…

achchhe geet sunane ke liye abhar

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

धन्यवाद!

PEHCHAN ने कहा…

achhi picture thi

PEHCHAN ने कहा…

achhi picture thi><><><><><><><><><><><><><> <>< ><><><> <><><><><><><><><><><><><><><><><><><><>>>>>>>>>>>>><><><><><><><><><><><<><><><<>>>>>>>>>>>>><<<<<<<<<<<<<<>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>><><>>>>>>>>><<<<<<<<<<<<>>>>>>>

ब्लॉग निर्देशिका - Blog Directory

हिन्दी ब्लॉग - Hindi Blog Aggregator

Indian Blogs in English अंग्रेज़ी ब्लॉग्स