समर्थक

शनिवार, 20 अक्तूबर 2012

तथागत, तुम बिन कौन हमारो


प्रिया बहनों के स्वर में तुलसीदास के शब्द राग यमन कल्याण्

तथागत = तथ+ आगत
तथागत = तथ्य+ आगत
आजकल बुद्ध के लिये रूढ हो चुके शब्द "तथागत" का प्रयोग प्राचीनकाल से होता रहा है।

पुरातन पोस्ट पत्रावली

ब्लॉग निर्देशिका - Blog Directory

हिन्दी ब्लॉग - Hindi Blog Aggregator

Indian Blogs in English अंग्रेज़ी ब्लॉग्स