समर्थक

शनिवार, 10 जनवरी 2015

जब तक हैं आकाश पे

चलचित्र: आप की परछाइयाँ (1964)

स्वर: आशा, लता, रफी
गीत: राजा मेहंदी आली खाँ; संगीत: मदन मोहन
सौजन्य: श्री गुलाम रसूल (यूट्यूब द्वारा)

पुरातन पोस्ट पत्रावली

7 टिप्‍पणियां:

Anita ने कहा…

मासूम से बच्चे की बात भगवान कैसे अनसुनी कर सकता है...सुंदर गीत ! आभार !

Geetsangeet ने कहा…

अनिता जो की बात से मैं भी सहमत हूँ.
धन्यवाद स्मार्ट जी.

ऋषभ शुक्ला ने कहा…

आपका ब्लॉग मुझे बहुत अच्छा लगा, और यहाँ आकर मुझे एक अच्छे ब्लॉग को फॉलो करने का अवसर मिला. मैं भी ब्लॉग लिखता हूँ, और हमेशा अच्छा लिखने की कोशिस करता हूँ. कृपया मेरे ब्लॉग पर भी आये और मेरा मार्गदर्शन करें.

http://hindikavitamanch.blogspot.in/
http://kahaniyadilse.blogspot.in/

manoj sharma ने कहा…

बहुत अच्छी पोस्ट है मेरा हिंदी ब्लॉग है
www.successfulformula.wordpress.com/

Kunal Kumar ने कहा…

हमारे तकनीक ब्लॉग को भी शामिल करें
मेरा नाम कुणाल कुमार
ब्लॉ का नाम technik ki duniya!technology in the world!
url http://www.hinditechtrick.blogspot.com

Kunal Kumar ने कहा…

हमारे तकनीक ब्लॉग को भी शामिल करें
मेरा नाम कुणाल कुमार
ब्लॉ का नाम technik ki duniya!technology in the world!
url http://www.hinditechtrick.blogspot.com

rajesh mishra ने कहा…

Apratim

ब्लॉग निर्देशिका - Blog Directory

हिन्दी ब्लॉग - Hindi Blog Aggregator

Indian Blogs in English अंग्रेज़ी ब्लॉग्स