समर्थक

सोमवार, 13 जून 2011

बोले तो बांसुरी कभी बजती सुनाई दे - सावन को आने दो (1979)


पूर्ण कुमार "होश" के शब्द, येसुदास का स्वर, राजकमल के संगीत में

पुरातन पोस्ट पत्रावली

1 टिप्पणी:

निर्मला कपिला ने कहा…

शानदार प्रस्तुति। धन्यवाद।

ब्लॉग निर्देशिका - Blog Directory

हिन्दी ब्लॉग - Hindi Blog Aggregator

Indian Blogs in English अंग्रेज़ी ब्लॉग्स