समर्थक

रविवार, 2 अक्तूबर 2011

अक्सर शब ए तन्हाई में - रेशमा

गुज़री हुई दिलचस्पियाँ, बीते हुए दिन ऐश के

नादर काकोरवी की रचना रेशमा के स्वर में
पाकिस्तान टीवी के कार्यक्रम मेरी पसन्द से साभार

कोई टिप्पणी नहीं:

ब्लॉग निर्देशिका - Blog Directory

हिन्दी ब्लॉग - Hindi Blog Aggregator

Indian Blogs in English अंग्रेज़ी ब्लॉग्स