समर्थक

शनिवार, 14 अप्रैल 2012

विशु, बिहु, पोइला बैसाख और वैशाखी की बधाई

 শুভ নববর্শ (পহেলা বৈশাখ) बांग्ला सम्वत 1419 तदनुसार 14 अप्रैल 2012

बाजेरे बाजे ढोल


हुसोरी (रोंगाली बिहु)
बंगाली सम्वत्सर वैदिक सौर कलेंडर पर आधारित है। इसका आरम्भ वंगदेश के राजा शशांक (590 - 625 ईस्वी) में किया हुआ बताया जाता है। केरल का नववर्ष यद्यपि ओणम के समय माना जाता है परंतु सौर नववर्ष के आगमन के कारण विशु को भी नववर्ष की ही दर्ज़ा प्राप्त है। असम में इसी समय नया साल रोंगाली बिहु के रूप में मनाया जाता है। यही समय मणिपुरी नववर्ष चेइराओबा का भी है, यद्यपि मैतेयी पंचांग चन्द्र आधारित है। पुदुच्चेरी व तमिलनाडु में यह दिन पुत्तंडु तथा श्रीलंका में सिंहल नववर्ष "बकमाह उलेला" मनाने का है।

* सम्बन्धित कड़ियाँ *
विशु - मलयालम सौर नववर्ष
भारतीय राष्ट्रीय नववर्ष शुभ हो!
नव वर्ष की शुभ कामनायें!
नव सम्वत्सर शुभ हो!
नव शारदा - रंग ही रंग - शुभकामनायें!
Pohela Boishakh
लोग्सार (लोसार 2139) नववर्ष मंगलमय हो!


पुरातन पोस्ट पत्रावली

2 टिप्‍पणियां:

रविकर फैजाबादी ने कहा…

शुभकामनाएं --
नव-वर्ष मंगलमय हो -

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

इस विषय में आपकी एक और पुरानी पोस्ट की याद आ रही है जिसमें आपने नेपाली नववर्ष का भी जिक्र किया था। उसका लिंक नहीं दिया लगता है। वह पोस्ट अधिक विस्तृत थी।

ब्लॉग निर्देशिका - Blog Directory

हिन्दी ब्लॉग - Hindi Blog Aggregator

Indian Blogs in English अंग्रेज़ी ब्लॉग्स